शादी से पहले चुदाई की तमन्ना

antarvasna sex story

नमस्कार प्यारे पाठको, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | आप सभी को मेरा प्यार भरा नमन | मेरा नाम साध्वी है और मैं नागपुर की रहने वाली हूँ | मेरी उम्र 29 साल है और मैं अभी जॉब करती हूँ | मैं दिखने में गोरी हूँ और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और मेरा फिगर थोडा सा मोटा है क्यूंकि मुझे खाने का बहुत शौक है | मैं इस साईट की बहुत बड़ी फैन हूँ और मुझे इस साईट पर कहानियां पढना बहुत ही पसन्द है | मैं इस साईट की दैनिक पाठक हूँ और हर दिन कम से कम तीन स्टोरी जरुर पढ़ती हूँ | आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी जरुर पसंद आएगी | तो अब मैं ज्यादा वक़्त जाया न करते हुए अपनी कहानी लिखना शुरू करती हूँ |

ये घटना पिछले बीते महीने की है | मेरे घर में मेरे मम्मी पापा और हम तीन भाई बहन रहते हैं | मैं घर की सबसे बड़ी लड़की हूँ इसलिए पढाई खत्म होने के बाद मैंने प्राइवेट जॉब कर ली | धीरे धीरे मेरा प्रमोशन भी होने लगा और मेरे लिए कई लड़को के रिश्ते भी आने लगे | लेकिन मैं अभी शादी के लिए तैयार नही हूँ इसलिए मैंने घर वालो से साफ़ कह दिया है कि मैं अपनी पसंद के ही लड़के से शादी करुँगी और वो भी तब जब मेरा मन होगा और शादी के लिए मुझे कोई फोर्स न करे | मेरे घर वाले भी इस बात से सहमत हो गए | मैं शुरू से ही बहुत तेज तर्रार लड़की रही हूँ और मुझे कोई बॉयफ्रेंड बनाना पसंद नहीं है | मुझे कई बार लड़को ने प्रोपोस किया और कई बार मैंने उन्हें जम के फटकार लगाई | मेरे तेजपन की वजह से मुझे कोई लड़का प्रोपोस करने से डरता था | मेरे ऑफिस के स्टाफ वाले भी मेरी इस चीज़ से वाकिफ थे | इसलिए बस मुझसे फ्रेंडशिप तक का ही रिश्ता रखना मुनाजिब समझते थे | लेकिन एक लड़का था जिसका नाम अशिविनी है और वो दिखने में बहुत ही स्मार्ट बंदा है |

वो मुझे पसंद करता था लेकिन मुझसे कहने से डरता था | ये मुझे तब मालूम पड़ा जब मेरी टेबल पर एक लव लैटर था जिसमे कुछ शायरी लिखी हुई थी और लास्ट में आई लव यू लिखा हुआ था | मैंने उसकी लिखावट से उसे पहचान लिया कि वो अशिविनी ही है | पर मैंने उसे इसलिए कुछ नहीं कहा क्यूंकि उसको मैं भी पसंद करती थी | फिर एक दिन हमारे बॉस के बेटे का बर्थडे था और हम सभी लोगो को उन्होंने बुलाया था | उस दिन तो अशिविनी बहुत ही ज्यादा स्मार्ट लग रहा था | उस दिन उसने नशा भी किया हुआ था | जब मैं खाना खा रही थी तब तब उसने मुझे सामने से प्रोपोस कर दिया और सभी के सामने | मैं उसकी हिम्मत देख कर उसे हाँ कर दिया | उसके बाद से हम दोनों साथ में रहने लगे | मैंने भी घर वालो को उसके बारे में बता दिया और मेरे घर वाले भी तैयार हो गए | शादी से पहले उसने मुझसे चुदाई की इच्छा जाहिर की तो मैंने भी उसे मना नहीं किया | जब मैं उसके घर गई तब उसने मेरा हाँथ पकड़ कर अपनी बांहों में भर लिया और मुझे सहलाने लगा |

मैं भी उसकी बांहों में बहुत ही सुकून फील कर रही थी | वो मुझे सहलाते हुए मेरी गांड पर भी हाँथ फेर रहा था और मैं नीचे हाँथ कर के उसके लंड को टटोल रही थी | उसके बाद उसने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसने लगा | मैं भी उसका पूरा साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगी | वो मेरे होंठ को चूसने के साथ साथ मेरे दूध को भी दबा रहा था और मैं भी उसके होंठ के रस को पीते हुए उसके पीठ को सहला रही थी | हम दोनों ने एक दूसरे को खूब किस किया | फिर उसने मेरे शर्ट को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही मरे भरे हुए बड़े दूध को दबाने लगा तो मेरे मुंह से आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आवाज़ निकलने लगी | उसके बाद उसने मेरे ब्रा को भी उतार दिया और मेरे दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर बारी बारी से चूसने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां लेने लगी |

वो मेरे दोनों दूध को बारी बरी से जोर जरो से मसलते हुए चूस रहा था और एक हाँथ से मेरी चूत भी सहला रहा था जीन्स के ऊपर से ही और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रही थी | फिर उसने मेरे जीन्स को भी उतार दिया और मेरी जांघो को सहलाने लगा तो मैंने उस समय आँखों को बंद कर लिया | फिर उसने मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी पेंटी को अपने दांतों से दबा कर उतार दिया | फिर वो अपनी जीभ से मेरी चूत को चाटने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मदहोशी में जाने लगी | वो मेरी चूत को चाटते हुए मेरे चूत के दाने को भी होंठ में दबा कर चूसने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी | फिर वो मेरी चूत में अपनी दो ऊँगली डाल कर चोदने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए एक बार झड़ गई | फिर मैंने उसके कपड़े उतार कर उसे भी नग्न अवस्था में कर दिया |

फिर मैंने उसके लंड को हाँथ में लिया | वाह क्या मोटा लंड था उसका मुझे तो छूने में ही मजा आ गया था | फिर मैं उसके लंड को जीभ से मजे ले कर चाटने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारिया लेने लगा | मैं उसके लंड को चाट कर गीला कर रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए सिस्कारियां ले रहा था | उसके बाद मैंने उसके दोनों अन्टोलो को भी अपने मुंह में लिया और चूसने लगी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे माथे पर अपना लंड मारने लगा | उसके बाद मैंने उसके लंड को अपने मुंह के अन्दर डाल लिया और चूसने लगी तो वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मजे लेने लगा | मैं उसके लंड को जोर जोर से ऊपर नीचे करते हुए चूस रही थी और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे बालो को सहला रहा था |

कुछ देर बाद उसने मुझे लेटा कर मेरी चूत में अपने लंड को रखा और एक ही शॉट में अन्दर घुसेड दिया | मैंने जोर से चिल्ला कर कहा यार आराम से तुमाहरा लंड बहुत मोटा है | तो उसने कहा अरे पागल तभी तो तुझे मजा आएगा और फिर वो धीरे धीरे शॉट मारते हुए चोदने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए चुदाई के मजे लेने लगी | कुछ देर बाद उसने अपनी चुदाई की स्पीड तेज कर दिया और जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा तो मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी कमर उठा उठा कर चुदवाने लगी | फिर उसने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आ कर अपने लंड को घुसेड़ दिया और जोर जोर से शॉट मारते हुए चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवा रही थी | उसके बाद उसने मेरी गांड में थूक लगा दिया और मेरी गांड को चोदने लगा तो मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए अपने दूध को दबा कर गांड चुदाई के मजे लेने लगी | कुछ देर बाद उसने अपना वीर्य में गांड के अन्दर ही झड़ा दिया |

तो दोस्तों ये थी मेरी दास्तान | मैं आशा करती हूँ कि आप सभी को मेरी कहानी बहुत ही पसंद आई होगी |